Ekvastra

Geet, Subhashita, AmrutVachan and Bodhkatha

User Tools


subhashita:aadau_sanghatyed

आदौ संघटयेद् राष्ट्

Subhashita

आदौ संघटयेद् राष्ट्रं ततः कांक्षेत् समुन्न्तिम्।
संघशक्तिं विना राष्ट्रंकुतोवा कुत उन्नतिः।।

Hindi meaning

सवप्रर्थम राष्ट्र का संगठन करे, तत्पश्चात समुन्नति की आकांक्षा करे। संगठित शक्ति के बिना राष्ट्र कहाँ और समुन्नति कहाँ?

Source

सुभाषितम् Page 27