Ekvastra

Geet, Subhashita, AmrutVachan and Bodhkatha

User Tools


subhashita:nabhisheko_n

नाभिषेको न संस्कार:

Subhashita

नाभिषेको न संस्कार: सिंहस्य क्रियते मृगैः
विक्रमार्जित-सत्व्स्य स्वयमेव मृगेंद्रता

Hindi meaning

जंगल में पशु, शेर का संस्कार करके या उसपर पवित्र जल का छिड़काव करके उसे राजा घोषित नहीं करते बल्कि शेर अपनी क्षमताओं और योग्यता के बल पर खुद ही राजत्व स्वीकार करता है।

Source

सुभाषितम् -Page 41